Sayings of Maula Ali 01

Pages Listing Sayings of Maula Ali


One has to account in the next world for the deeds that he has done in this world. Maula Ali – In the Nahjul Balaga लोगों के दुनिया में कर्म परलोक में उन की आँखों के सामने होंगे। हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन

Saying 006.3 – Nahjul Balaga



हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन
A conceited and self-admiring person is disliked by others Maula Ali – In the Nahjul Balaga जो व्यक्ति स्वयं को बहुत पसंद करता है उसको बहुत से लोग नापसंद करते हैं। हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन  

Saying 006.1 – Nahjul Balaga



हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन
Maula Ali – In the Nahjul Balaga   सहनशीलता दोषों को छुपा देती है। सुलह सफ़ाई दोषों को ढाँकने का साधन है। हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन

Saying 005.3 – Nahjul Balaga



हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन
The mind of a wise man is the safest custody of secrets Maula Ali – In the Nahjul Balaga बुध्दिमान का सीना उसके भेदों का ख़ज़ाना होता है। हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन

Saying 005.1 – Nahjul Balaga









हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन
Poverty often disables an intelligent man from arguing his case. Maula Ali – In the Nahjul Balaga ग़रीबी होशियार को भी तर्क देने से रोक देती है। हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन

Saying 003.3 – Nahjul Balaga





हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन
He who has no control over his tongue will often have to face discomfort. Maula Ali – In the Nahjul Balaga जिस ने अपनी ज़बान को क़ाबू मे न रखा उस ने स्वयं को अपमानित किया। हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन

Saying 002.3 – Nahjul Balaga



हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन
He who discloses his hardship will always be humiliated. Maula Ali – In the Nahjul Balaga जिस ने लोगों को अपनी परेशानी बताई वह अपने अपमानित होने पर राज़ी हो गया । हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन

Saying 002.2 – Nahjul Balaga


हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन
He who is greedy is disgraced. Maula Ali – In the Nahjul Balaga जिस ने लालच को अपना आचरण बना लिया उस ने स्वयं को हलका कर लिया । हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन

Saying 002.1 – Nahjul Balaga








हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन
Be afraid of a gentleman when he is hungry, and of a mean person when his stomach is full. Maula Ali – In the Nahjul Balaga भूखे शरीफ़ और पेट भरे कमीने के हमले से डरते रहो। हज़रत अली (अलैहिस्सलाम) के कथन  

Saying 049 – Nahjul Balaga